भारत सरकार लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण विभाग
लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज - भारत सरकार
सभी पाठ्यक्रम आपातकालीन दुर्घटना ओपीडी और विशेष क्लीनिक निविदाएं बुक ऑनलाइन नियुक्ति पूर्व छात्र मीडिया गैलरी

निदेशक डेस्क

वापस जाएं

डॉo एन एन माथुर

डॉ (प्रो) एन एन माथुर    एमएस डीएनबी एफएएमएस
निदेशक और अतिरिक्त डीजीएचएस और निदेशक प्रोफेसर (ईएनटी)
लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज
और श्रीमती सुचेता कृपलानी और कलावती सरन चिल्ड्रेन हॉस्पिटल

LHMC Logo

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, भारत में स्थापित प्राचीन चिकित्सा महाविद्यालयों में से एक है। यहाँ अध्ययनरत छात्रों की शैक्षिक आवश्यकताओं तथा रोगियों की आधुनिक स्वास्थ्य जरूरतों की पूर्ति हेतु व्यापक पुनर्विकास परियोजना के तहत प्रमुख अवसंरचनात्मक परिवर्तन किया जा रहा है। 1911-12 में देश की राजधानी कोलकाता से दिल्ली स्थानांतरित होने के पश्चात दिल्ली में स्थापित यह पहला चिकित्सा एवं नर्सिंग महाविद्यालय था। इस महाविद्यालय की आधारशिला 17 मार्च, 1914 को रखी गई तथा पठन-पाठन का कार्य 1916 में आरंभ हुआ। इन वर्षों के दौरान कॉलेज ने हजारों चिकित्सा स्नातक, स्नाकोत्तर एवं नर्सिंग स्नातक तथा प्रशिक्षित डॉक्टर समाज को समर्पित किए जिन्होंने चिकित्सा के क्षेत्र में देश तथा विदेश में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया।

कॉलेज ने सदैव शिक्षा के उच्च स्तर को बनाए रखा और इसलिए जो उपयुक्त है वह हम इस महाविद्यालय और उससे संबद्ध श्रीमती सुचेता कृपलानी अस्पताल एवं कलावती सरन बाल चिकित्सालय के संकाय, छात्र, डॉक्टर, नर्स एवं सभी प्रकार के स्वास्थ्य संबंधित कर्मियों को बहुप्रतीक्षित उच्चतम स्तर की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने के कार्य में लगे हुए हैं। हम पुनर्विकास प्रक्रिया के पहले पायदान के मध्य में हैं और उम्मीद करते हैं कि नए पुनर्विकास लक्ष्यों को समय पर या उससे पहले ही हासिल कर लेंगे। आशा है कि निकट भविष्य में पुनर्विकास के सभी चरणों के पूरा होते ही हमें पूर्णत: आधुनिक परिसर उपलब्ध हो जाएगा।

नई आधारभूत संरचना तथा संकाय के साथ-साथ हम स्नातकोत्तर छात्रों के प्रवेश की संख्या को बढ़ाने एवं नए पोस्ट-डॉक्टरल पाठ्यक्रम प्रारंभ करने की योजना बना रहें हैं।

जय हिंद